Chhath Puja

आस्था से कहीं ज्यादा भावना बन चुकी है , शायद इसलिए आस्था का महापर्व कहते हैं !! एक ही तालाब , नदी या पोखरा अलबत्ता कुछ लोग समुन्द्र के किनारे अपने परिवार के साथ जब पूजा अर्चना ,फटाके छोड़ते हैं , बड़ा ही विहंगम सा दृश्य होता है !! कहाँ कोई जात-पात देखता है ,कोई general ,obc ,sc ,st ,दिव्यांग या विधवा नहीं दिखता, सब लोग छठ-व्रती ही दिखते हैं और हम सहर्ष उनके चरण स्पर्श करके प्रसाद ले लेते हैं ,शायद इसलिए पुरे पूजा में कहीं कोई भेदभाव की बू नहीं आती !! छठ-व्रती जो 72 घंटे का निर्जला -व्रत (बिना जल पिए ) रखते हैं ,उनकी श्रद्धा भक्ति तो second to none होती है !! सबसे अच्छी बात ये की जिस किसी दोस्त ,परिचित या फिर खासमखास 😍को हम खोजना चाहते हैं , वो सब भी छठ घाट के किनारे ही मिल जाते हैं , और हमारा सवाल तो बस इतना ही होता है “कब आये मधुबनी, और कब तक रहोगे ??” , और exchange of प्रसाद के साथ अगले मित्र से मिलने निकल जाते हैं !! शाम की पूजा तो कैसे निकल जाती है पता भी नहीं चलता , और फिर लेजेंडरी Sharda Sinha के गाने सुन के सुबह तक का इंतज़ार करते हैं ,सुबह तो 3 बजे से ही लगता है की जैसे कोई ethnic day का फैशन शो चल रहा होता है ,और फिर उगते सूर्य को प्रणाम कर अगले वर्ष का बेसब्री से इंतज़ार करते हैं !! अस्तलगामी सूर्य और उगते हुए सूर्य (सूरुजदेव) को प्रणाम कर अगले एक साल के लिए हम इंतज़ार में लग जाते हैं !! सबसे अच्छी बात घाटों पे जो सफाई हम करते हैं ,अगर हम सब वैसा हमेशा ही रखे तो शायद हमें कभी स्वछ भारत अभियान जैसे नारो की जरुरत न हो !! घर से दूर होना तो अखरता ही है , मगर शायद दूर रह के कुछ काम कर लेना भी छठ मैय्या के कृपा से ही हो पाया है !!
हर एक क्षण का आनंद लीजिये , क्योंकि यही तो इस महापर्व की विशेषता है !!😊
छठ पूजा की हार्दिक बधाई !!🙏🙏 #Chhatpuja #Bihari

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s